July 16, 2024

राष्ट्र की परम्परा

हिन्दी दैनिक-मुद्द्दे जनहित के

लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2024 हेतु सातवें चरण के 13 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों तथा 01 विधानसभा उप निर्वाचन क्षेत्र का मतदान सकुशल सम्पन्न

लखनऊ (राष्ट्र की परम्परा)
प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी नवदीप रिणवा ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के प्रेस कान्फ्रेंस हॉल में आयोजित प्रेसवार्ता में बताया कि 13 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र 63-महराजगंज, 64-गोरखपुर, 65-कुशीनगर, 66-देवरिया, 67-बांसगांव (अ0जा0), 70-घोसी, 71-सलेमपुर, 72-बलिया, 75-गाजीपुर, 76-चन्दौली, 77-वाराणसी, 79-मिर्जापुर, 80-राबर्ट्सगंज (अ0जा0) तथा विधानसभा उप निर्वाचन क्षेत्र 403-दुद्धी (अ0ज0जा0) में शान्तिपूर्वक सम्पन्न हो गया है। मतदान प्रातः 7.00 बजे से शुरू होकर सायं 06.00 बजे समाप्त हुआ। सातवें चरण के लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र 11 जनपदों- महराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, मऊ, बलिया, गाजीपुर, चन्दौली, वाराणसी, मिर्जापुर, सोनभद्र तथा विधानसभा उप निर्वाचन क्षेत्र 403-दुद्धी (अ0ज0जा0) जनपद सोनभद्र में अवस्थित हैं।

सायं 05ः00 बजे तक जनपदों से प्राप्त सूचना के आधार पर प्रदेश के 13 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में कुल औसत 54.00 प्रतिशत मतदान हुआ है। जिसमें 63-महराजगंज 58.66, 64-गोरखपुर 52.53, 65-कुशीनगर 56.04, 66-देवरिया 54.13, 67-बांसगांव (अ0जा0) 50.06, 70-घोसी 53.19, 71-सलेमपुर 50.21, 72-बलिया 50.56, 75-गाजीपुर 53.53, 76-चन्दौली 58.19, 77-वाराणसी 54.58, 79-मिर्जापुर 55.83, 80-राबर्ट्सगंज (अ0जा0) 54.25 तथा विधानसभा उप निर्वाचन क्षेत्र 403-दुद्धी (अ0ज0जा0) 54.48 प्रतिशत मतदान हुआ।

मतदान की प्रक्रिया को स्वतंत्र एवं निष्पक्ष बनाये रखे जाने के उद्देश्य के लिए प्रभावी पर्यवेक्षण हेतु 13,092 मतदेय स्थलों पर वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई, जिसका पर्यवेक्षण जिला निर्वाचन अधिकारी, मुख्य निर्वाचन अधिकारी एवं भारत निर्वाचन आयोग तीनों स्तर पर किया गया। उक्त के अतिरिक्त 2,304 मतदेय स्थलों पर वीडियोग्राफी की भी व्यवस्था की गई।

सातवें चरण के पोस्टल बैलेट मतदान हेतु अर्ह श्रेणियां (यथा- 85 वर्ष की आयु से अधिक के मतदाता, दिव्यांग, अनिवार्य सेवायें तथा मतदान कार्मिक) में 19,767 मतदाताओं द्वारा पोस्टल बैलेट के माध्यम से मतदान किया गया। 85 वर्ष की आयु से अधिक के मतदाता एवं दिव्यांग मतदाताओं में जिनके द्वारा पोस्टल बैलेट का विकल्प चुना गया, उनके घर पर जाकर मतदान दल द्वारा मतदान कराया गया। प्रक्रिया को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं पारदर्शी बनाये जाने हेतु मतदान दल के साथ एक माइक्रो आब्जर्वर तथा वीडियोग्राफर की तैनाती की गई एवं प्रत्याशियों को सम्पूर्ण प्रक्रिया को देखने हेतु स्वयं अथवा अपने अभिकर्ता को भेजने के लिए मतदान दल का शिड्यूल उपलब्ध कराया गया एवं इस श्रेणी के अर्ह मतदाताओं की सूची भी प्रत्याशियों को उपलब्ध कराई गई। इस मतदान प्रक्रिया की पूरी वीडियोग्राफी कराई गई।

उपरोक्त के अतिरिक्त कुल 73,117 सेवा मतदाताओं को भी रिटर्निंग अधिकारी द्वारा इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से (ईटीपीबीएस) पोस्टल बैलेट का प्रेषण किया गया। 26,982 कार्मिकों को ई0डी0सी0 जारी किया गया है।
मतदान पर सतर्क दृष्टि रखने के लिए आयोग द्वारा 13 सामान्य प्रेक्षक, 08 पुलिस प्रेक्षक तथा 14 व्यय प्रेक्षक भी तैनात किये गये। उक्त के अतिरिक्त 1861 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 243 जोनल मजिस्ट्रेट, 130 स्टैटिक मजिस्ट्रेट तथा 2550 माइक्रो ऑब्जर्वर भी तैनात किये गये।

उपरोक्त के अतिरिक्त भारत निर्वाचन आयोग द्वारा राज्य स्तर पर 01 वरिष्ठ सामान्य प्रेक्षक, 01 वरिष्ठ पुलिस प्रेक्षक तथा 01 वरिष्ठ व्यय प्रेक्षक भी तैनात किये गये, जिनके द्वारा क्षेत्र में रहकर सम्पूर्ण निर्वाचन प्रक्रिया का पर्यवेक्षण किया गया।

चुनाव में सभी 25,658 मतदेय स्थलों (पोलिंग बूथों) हेतु मतदान के लिए आवश्यक ईवीएम एवं वीवीपैट तथा अलग-अलग जनपदों में पर्याप्त संख्या में रिजर्व ईवीएम एवं वीवीपैट की व्यवस्था की गई एवं मतदान के दौरान जहॉं कहीं भी शिकायत प्राप्त हुई हैं, वहॉं तत्काल प्रभावी कार्यवाही करते हुए ईवीएम एवं वीवीपैट को बदलने की कार्यवाही की गई। जनपदों से प्राप्त सूचना के अनुसार मॉक पोल के दौरान कुल 152 बी0यू0, 219 सी0यू0 एवं 338 वीवीपैट बदले गये एवं मतदान प्रारम्भ होने के पश्चात सायं 05ः00 बजे तक कुल 53 बी0यू0, 51 सी0यू0 एवं 199 वीवीपैट बदले गये।
विधानसभा उप निर्वाचन क्षेत्र 403-दुद्धी में मॉकपोल के दौरान 04 बी0यू0, 03 सी0यू0 तथा 12 वीवीपैट बदले गये एवं मतदान प्रारम्भ होने के पश्चात सायं 05 बजे तक 01 बी0यू0, 01 सी0यू0, 03 वीवीपैट बदले गये।
01 जून, 2024 को मतदान के दौरान कतिपय शिकायतें प्राप्त हुई, जिन्हें जनपद के अधिकारियों से ससमय निस्तारण कराया गया। चुनाव को शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने हेतु पर्याप्त संख्या में अर्द्ध सैनिक बलों की तैनाती की गई। ईवीएम के स्ट्रांग रूम की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी अर्द्ध सैनिक बलों को दी गई। चुनाव पूर्ण रूप से शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराया गया एवं किसी अप्रिय घटना की कोई सूचना प्राप्त नहीं हुई।