July 24, 2024

राष्ट्र की परम्परा

हिन्दी दैनिक-मुद्द्दे जनहित के

युवती को अमर्यादित भाषा के साथ अंधेरे में पीटा थानेदार ने

भागलपुर /देवरिया (राष्ट्रीय की परम्परा)
मईल थाना क्षेत्र अंतर्गत भागलपुर ग्राम में किशोरी के साथ अमर्यादित भाषा की बौछार के साथ मईल थानेदार ने मारा पीटा । नाबालिक बालक पर भी थप्पड़ो की कर दी बरसात।
मामला दुकान में पकड़ी गई एक महिला का है।
आपको बता दे कि भागलपुर ग्राम के एक दुकान में देर रात को ये महिला पकड़ी गई। लोगों के मुताबिक दारूबाज महिला को पड़कर महिलाओं ने पुलिस को सुपुर्द कर दिया।
इस मामले में मईल थाने के थानेदार दुकानदार के घर पहुंचे और सारे नियम कानून को ताक पर रखकर दुकानदार के घर में घुसे, वो भी सिविल ड्रेस में बगैर महिला कांस्टेबल के। मईल थानेदार ने घर का लाइट आफ दिया । उसके बाद किशोरी के साथ अमर्यादित भाषा का प्रयोग करते हुए थप्पड़ों से पीटा, इतना ही नहीं रिस्तेदारी में आए एक नाबालिग युवक के उपर भी थप्पड़ो की बौछार कर दी। लड़की के घर पर कोई पुरुष न था लड़की अभी भी सदमे में है।मईल थानेदार का ऐसा रवैया देखकर अगल बगल वाले हैरान हो गए, जैसे किसी दुर्दांत अपराधी को गिरफ्तार करने आया हो ।मईल थानेदार के इस व्यवहार की हर जगह निंदा हो रही है।
मईल थाना क्षेत्र के भागलपुर में देर रात को एक गांव की महिला दुकान के बगल में अंधेरे में बैठी थी। दुकान मालिक के घर की महिलाएं बाहर टहलने निकली थीं। महिलाओं की नजर खुली दुकान के अंदर चली गई क्योंकि उसमें अंधेरा था। उन्होंने एक महिला को दुकान के अंदर अंधेरे में बैठा देखकर सशंकित हो गई। महिलाओं ने महिला को पकड़ लिया। दोनों तरफ से झपटा झपटी होने लगी। घर की एक महिला ने पी आर वी पुलिस टीम को घटना की जानकारी दिया। पुलिस टीम के पहुंचने से पहले लोगों की भींड जुट गई।
सूत्रों का कहना है कि पुलिस ने पकड़ी गई महिला के साथ साथ दुकानदार के घर की महिलाओं को भी पुलिस चौकी लेकर चली गई। थोड़ी देर बाद घटना की जानकी करने मईल थानेदार सिविल ड्रेस में बगैर महिला कांस्टेबल के पुलिस टीम के साथ दुकान पर पहुंच गए।
सूत्रों का कहना है कि घर में दुकानदार की बेटी थी। मईल थानेदार ने युवती से अभद्र भाषा में पूछताछ करना शुरु किया और बगैर महिला कांस्टेबल के ही घर में घुसकर दुकानदार को ढूंढने का प्रयास करना चाह रहे थे। युवती ने अभद्र भाषा और घर में घुसने का विरोध किया। तो मईल थानेदार आगबबूला हो गए।
सूत्रों का कहना है कि युवती के विरोध से गुस्साए मईल थानेदार ने घर का लाइट आफ करके युवती को पीटा ।
सूत्रों का कहना है कि थानेदार की पिटाई से युवती चिल्लाने लगी। युवती के चिल्लाने की आवाज सुनकर लोगों की भींड जुट गई। थानेदार ने एक युवक का मोबाइल छीन लिया। उन्हें भय सताने लगा कि यह युवक घटना का विडियो बना लेगा। युवती के घर रिस्तेदारी में आए एक नाबालिक युवक के हाथ से भी मोबाइल छीन कर उसे भी पीट दिया। उस समय मौजूद लोगों को थानेदार ने भगा दिया।
सूत्रों का कहना है कि इस घटना के बाद मईल थानेदार ने महिला कांस्टेबलों को बुलाया और महिलाओं को थाने भेज दिया। देर रात को महिलाओं को घर भेजा दिया और दूसरे दिन दोनों पक्षों में समझौता करा कर घर भेज दिया। युवती और नाबालिक युवक के साथ मईल थानेदार का अमर्यादित व्यवहार की चारों तरफ आलोचना हो रही है।
इस मामले में जब मईल थानेदार से बात की गई तो उन्होंने इस बात को सिरे से खारिज कर दिया। कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है।मईल थानेदार युवती व नाबालिक युवक को मारने की घटना से इंकार कर रहे हैं। युवती के पिता ने मोबाइल फोन से मईल थानेदार द्वारा बेटी को पीटे जाने और घर की महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार किए जाने के मामले को बताया है। उन्होंने कहा है कि मईल थानेदार के खिलाफ पुलिस के उच्चाधिकारियों और मुख्यमंत्री से शिकायत कर थानेदार के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेगें।
मईल थानेदार गोरखनाथ सरोज से इस मामले में बात करने का प्रयास किया गया लेकिन मोबाइल नेटवर्क की गड़बड़ी के कारण बात नहीं हो सकी।