July 16, 2024

राष्ट्र की परम्परा

हिन्दी दैनिक-मुद्द्दे जनहित के

लर्निंग सेंट्रिक अप्रोच समय की माँग: प्रो. संजीत कुमार गुप्ता

गोरखपुर (राष्ट्र की परम्परा)। दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय में मूल्यवर्धित पाठ्यक्रमों के संचालन की योजनांतर्ग शनिवार को वाणिज्य विभाग द्वारा आयकर (आईटीआर और टीडीएस) की ई-फाइलिंग कोर्स की शुरुआत हुई। कुलपति प्रोफेसर पूनम टंडन के संरक्षण में आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ संकायाध्यक्ष वाणिज्य प्रोफेसर श्रीवर्धन पाठक के स्वागत उद्बोधन से हुआ। विभागाध्यक्ष द्वारा छात्रों को कोर्स के महत्व से अवगत कराया गया।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय, बलिया के कुलपति प्रो. संजीत कुमार गुप्ता ने अपने अत्यंत समावेशी उद्बोधन में छात्रों को बहुत महत्वपूर्ण जानकारियां दीं। उन्होंने आयकर अधिनिय की विभिन्न धाराओं, टीडीएस, टीसीएस, कराधान की दृष्टि से करदाताओं का वर्गीकरण तथा नई शिक्षा नीति में मूल्यवर्धक विषयों के समावेश के बारे छात्रों को अवगत कराया। इसके साथ ही उन्होंने कौशल विकास, संघटनात्मक विकास, सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी में दक्षता, मानवी संबंधों के विकास, करियर प्लैनिंग जैस महत्वपूर्ण बिंदुओं पर भी अपने ज्ञान से छात्रों का ज्ञानवर्धन किया।
कार्यक्रम के द्वितीय सत्र में मुख्य वक्ता प्रो. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने छात्रों को आयकर अधिनियम से संबंधित मूलभूत अवधारणाओं, सकल आय, कराधान योग्य आय, करदाता की निवासी स्थिति का निर्धारण आदि से परिचित कराया। प्रो. श्रीवास्तव जी ने कराधान की उत्पत्ति और विकास के संबंध में छात्रों को अत्यंत महत्वपूर्ण जानकारियां प्रदान की।
कार्यक्रम का समापन समन्वयक प्रोफेसर रवि प्रताप सिंह के धन्यवाद ज्ञापन से हुआ। ऑन लाइन आयोजित व्याख्यान में कार्यक्रम के संयोजक डॉ. राहुल मिश्रा, वाणिज्य विभाग के डाॅ अंशु गुप्ता, डॉ. मनीष कुमार आदि लोग उपस्थित रहे तथा विभाग के अन्य अध्यापक विभाग में उपस्थित होकर कार्यक्रम से जुड़े रहे। कार्यक्रम में विभाग के अतिथि शिक्षक, जेआरएफ/ एसआरएफ तथा अन्य शोध छात्र व विद्यार्थी उपस्थित रहे ।