July 25, 2024

राष्ट्र की परम्परा

हिन्दी दैनिक-मुद्द्दे जनहित के

ग्राम औरंगाबाद में हुआ जल सखियों का परिक्षण

सलेमपुर ,देवरिया(राष्ट्र की परम्परा)। शुद्ध पेय जल को कैसे मापा जाए उसकी शुद्धता को कैसे समझा जाए इसका परीक्षण सलेमपुर अंतर्गत ग्राम हडुआ उर्फ औरंगाबाद में हुआ जिसको ट्रेनर संजय यादव ने सभी जल सखियों को ग्राम पंचायत कार्यालय पर परिक्षण दिया । हर घर जल से नल केंद्र सरकार की एक प्रमुख योजना है इसकी शुद्धता को जांचने के लिए प्रत्येक गाम मे पांच जल सखियां बनाई जा रही है जो घर घर जाकर पानी का सैंपल लेंगी तथा उनको बताए गए तरीके से जांच करेंगी ट्रेनर संजय यादव द्वारा प्रैक्टिकल तरीके से सभी जल सखियों को परीक्षण करके सिखाया गया तथा टेलीविजन के माध्यम से भी स्क्रीन पर दिखाकर उन्हें बताया गया। पांच जल सखियों मे एक उसमे मुखिया के रूप में रखा गया जिनका नाम रम्भा भारती है।सभी जल सखियों को बताया गया की जांच करने के प्रमुख उपकरण ph पेपर , गंदलापन की जांच ,क्लोराइड एजेंट ए जिसको पानी के लिए गए सैंपल में दो बूंद डालना है तथा क्लोराइड एजेंट बी जिसको पानी में लिए गए सैंपल में बीस बूंद डालना है तथा फ्लोराइड जांच इन सभी माध्यमों से पानी की सही जांच की जा सकती है की पानी कितना शुद्ध है पीने के लिए अंत में एक H2s जो की बैक्टेरियो लॉजिकल परीक्षण है जिससे पानी की शुद्धता की जांच होगी।टीम में आए साथ में परीक्षण दे रहे कॉर्डिनेटर रवि यादव ने बताया की सभी किट ग्राम प्रधान के पास मौजूद करा दिया गया है जिससे जल सखियां गांव में घरों की पानी की जांच करेंगी और शुद्धता के बारे में ग्राम प्रधान को सूचित करेंगी।