July 16, 2024

राष्ट्र की परम्परा

हिन्दी दैनिक-मुद्द्दे जनहित के

पेड़ पौधों के बिना जीवन की परिकल्पना संभव नहीं-सौरभ कुमार

गड़वार /बलिया (राष्ट्र की परम्परा)

पेड़ पौधों के बिना जीवन की परिकल्पना भी नहीं की जा सकती है।यदि पेड़ पौधे ना हो तो हम सब सांस नहीं ले सकते हैं,इसलिए जीवन के लिए हम सब को पौधारोपण का संकल्प लेना चाहिए।उक्त बातें शुक्रवार को ग्रापए के प्रदेश अध्यक्ष सौरभ कुमार ने बाबू बालेश्वर लाल मार्ग पर स्थित ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के संस्थापक स्मृति शेष बाबू बालेश्वर लाल जी की प्रतिमा स्थल पर शुक्रवार को मौलश्री का पौधारोपण कर कहा। उन्होंने बताया कि पेड़- पौधों की कमी से निरंतर पर्यावरण संतुलन बिगड़ रहा है। पर्यावरण का संतुलन बनाए रखने के लिए पौधारोपण जरूरी है।बड़े पैमाने पर पेड़ों की कटाई से पर्यावरण को नुकसान पहुंच रहा है।लोग अपने स्वार्थ के लिए पेड़ों को काट रहे है। पर्यावरण हरा-भरा रहेगा, तभी जीवन भी सुरक्षित रहेगा। इस अवसर पर शैलेन्द्र वर्मा,विजय गुप्ता, लोकनाथ गुप्ता, सुशील पुष्पक, प्रवीण शर्मा,ब्रजेश दुबे,अंबुज श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।