July 16, 2024

राष्ट्र की परम्परा

हिन्दी दैनिक-मुद्द्दे जनहित के

ग्रामीणों ने डीएम को शिकायती पत्र देकर जनाजा स्थल,ईद, बकरीद, मुहर्रम का मेला स्थल, कब्रिस्तान व नाली पर से अतिक्रमण हटाने की किया मांग

भाटपार रानी/देवरिया (राष्ट्र की परम्परा)
श्रीरामपुर थाना क्षेत्र के मिश्रौली ग्राम पंचायत के जमनटोला गांव निवासी साढ़े तीन दर्जन ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र सौंपकर अपने गांव के जनाजा स्थल, ईद, बकरीद, मुहर्रम का मेला स्थल, कब्रिस्तान व सार्वजनिक नाली पर कुछ व्यक्तियों द्वारा किए गए अतिक्रमण हटाए जाने की मांग की है।वहीं डीएम ने इस मामले में आवश्यक कार्रवाई का निर्देश भी दिए हैं।डीएम को सौंपे गए शिकायती पत्र में गांव निवासी समाजिक कार्यकर्ता अमानत अंसारी,इस्लामिया कमेटी के सदर नसीर अंसारी,रियाजुद्दीन, मुसाफिर,नसरुद्दीन, निसार, मुस्तकीम,मुहम्मद अली,असकाब,क्यामुद्दीन,अलाउद्दीन, सफरी, सलमान,नैमुल्लाह,सरफराज, आसिफ,असलम, खुर्शेद, मुनीब,इरफान, हसबुद्दीन, कलाम,अफरोज, ऐनुल, ईश मुहम्मद,राज, नौशाद, अकरम, सैमुल्लाह, हसमुल्लाह,नईमुद्दीन, इशरत, मुहम्मद्दीन,सद्दाम,मुबारक, मजीद,आशिक,यूनुस, निजामुद्दीन,मेराज, अरशद, हसमुद्दीन ने लिखा है कि हम लोगों ने अपने गांव में आपसी सहमति से कुछ जमीन छोड़ा है।उस छोड़े गए जमीन पर जनाने की नमाज अदा की जाती है।इसके अलावा उसी स्थान पर ईद, बकरीद व मुहर्रम का मेला भी लगता है।उसके बगल में सार्वजनिक नाली बनी है।जिसमें लगभग दो सौ घरों का पानी गिरता है।शिकायतकर्ता ग्रामीणों का आरोप है कि गांव के ही मुस्लिम समाज के ही कुछ लोगों ने जनाजा स्थल,ईद,बकरीद, मुहर्रम का मेला स्थल, कब्रिस्तान व सार्वजनिक नाली पर अतिक्रमण कर लिया है।शिकायतकर्ताओं का कहना है कि 17 जुलाई 2024 को मुहर्रम का पर्व है।अतः इससे पूर्व उक्त स्थल को अतिक्रमण मुक्त किया जाए,ताकि मुहर्रम का मेला सुचारू रूप से लग सके। सूत्रों से बताया गया है की जिलाधिकारी ने इस मामले में आवश्यक कार्रवाई के लिए एसडीएम भाटपार रानी को निर्देशित भी किया है।