July 25, 2024

राष्ट्र की परम्परा

हिन्दी दैनिक-मुद्द्दे जनहित के

जिलाधिकारी ने किया सीएचसी व पीएचसी का किया औचक निरीक्षण

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में संस्थागत प्रसव बढ़ाया जाए-डीएम

बरहज/देवरिया(राष्ट्र की परम्परा)
गुरुवार को जिलाधिकारी अखंड प्रताप सिंह ने एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और दो प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान अस्पतालों में सफाई व्यवस्था में कमी मिलने पर डीएम ने नाराजगी व्यक्त करते हुए सुधार करने का निर्देश दिया।
जिलाधिकारी गुरुवार को सर्वप्रथम प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, महेन पहुंचे। उन्होंने सर्वप्रथम ओपीडी के विषय में जानकारी प्राप्त की, जिसमें पता चला कि 61 मरीजों ने चिकित्सकीय परामर्श प्राप्त किया है। प्रसव कक्ष के निरीक्षण के दौरान दीवार पर सीलन मिली तथा बेड पर बिछी चादर भी साफ नहीं मिली, जिस पर डीएम ने नाराजगी व्यक्त की। डीएम ने एमओआईसी डॉ राजेंद्र कुमार को स्वास्थ्य केंद्र परिसर को स्वच्छ बनाने का निर्देश दिया। एंटी स्नेक वेनम के विषय में भी जानकारी प्राप्त की और लोगों को सर्पदंश से बचाव के विषय में जागरूक करने का भी निर्देश दिया।
इसके पश्चात जिलाधिकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, बरहज पहुंचे, जहां उन्होंने जनसामान्य को मिल रही चिकित्सकीय सुविधा के विषय में जानकारी प्राप्त की। एमओआईसी डॉ अजय पाल ने डीएम को बताया कि गुरुवार को ओपीडी में 237 मरीजों ने चिकित्सकीय परामर्श प्राप्त किया। सभी मरीजों को निःशुल्क दवा दी गई। लैब में 32 टेस्ट हुए तथा दो मरीजों ने एक्सरे कराया। डीएम ने जननी सुरक्षा योजना के विषय में भी जानकारी प्राप्त किया। एमओआईसी ने बताया कि गत रात्रि रीना शर्मा पत्नी संदीप कुमार, निवासी सहियागढ़ की नॉर्मल डिलीवरी हुई है, जिसके पश्चात डीएम ने जनरल वार्ड में जाकर शिशु एवं मां का हालचाल लिया। उन्होंने कहा कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में अधिक से अधिक संस्थागत नॉर्मल डिलीवरी कराई जाए। जिलाधिकारी ने अस्पताल के कमरों की सीलन एवं सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने दवा वितरण कक्ष का भी निरीक्षण किया और मरीजों की पर्ची से मिलान कर दवाओं की उपलब्धता परखी। उन्होंने सीएचसी में सोलर पैनल लगाने तथा अस्पताल परिसर के टाइलीकरण के विषय में भी निर्देशित किया। इसके पश्चात जिलाधिकारी पीएचसी, भलुअनी पहुंचे। डॉ नवीन ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के विषय में जानकारी दी। यहां 58 मरीजों ने ओपीडी में दिखाया। डीएम ने सीलन भरे कमरे और गंदगी मिलने पर नाराजगी व्यक्त की और विगत तीन वर्षों के दौरान स्वास्थ्य केंद्र के मेंटेनेंस पर हुए खर्च का ब्यौरा तलब किया। डीएम ने कहा कि सभी स्वास्थ्य केंद्रों को मानक स्वरूप दिया जाएगा। इस दौरान डिप्टी सीएमओ डॉ कार्तिक पांडेय, तहसीलदार बरहज अरुण यादव सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।