July 16, 2024

राष्ट्र की परम्परा

हिन्दी दैनिक-मुद्द्दे जनहित के

टीचर्स ऑफ बिहार द्वारा आयोजित लेट्स टॉक में शामिल हुए संजय कुमार

पटना(राष्ट्र की परम्परा)l शिक्षा विभाग की नई पहल के अनुसार वर्तमान में बिहार के सरकारी विद्यालयों में कार्यरत शिक्षक एवं शिक्षिकाओं को ई-शिक्षाकोष ऐप पर अपनी उपस्थिति दर्ज करने हेतु निर्देशित किया गया है। शिक्षक एवं शिक्षिकाओं को ई-शिक्षकोष एप पर अपनी उपस्थिति दर्ज करने में कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। विदित हो कि ई -शिक्षाकोष ऐप पर वर्तमान में सभी शिक्षकों को अपनी उपस्थिति दर्ज करने के लिए निर्देशित किया गया है, परंतु वह किसी तकनीकी समस्या के कारण अपनी उपस्थिति दर्ज नहीं कर पाते हैं तो इसके लिए विभाग के द्वारा उनपर कोई प्रतिकूल कार्रवाई नहीं की जाएगी। शिक्षा विभाग का प्रयास है कि वर्तमान में ई-शिक्षाकोष ऐप पर उपस्थिति दर्ज करने में जो भी समस्याएं आ रही हैं उन समस्याओं का निर्धारित अवधि के अंदर उचित समाधान किया जाए। समस्याओं के उचित समाधान करने का प्रयास विभाग के द्वारा की जा रही है।
इसी कड़ी में बिहार की सबसे बड़ी प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी टीचर्स ऑफ बिहार जो बिहार के बच्चों एवं शिक्षकों के हित में हमेशा से कार्य करती आ रही है, के द्वारा रविवार को ई-शिक्षाकोष एप के क्रियान्वयन से संबंधित समस्याओं के समाधान हेतु ई-शिक्षाकोष में आने वाली समस्याएं एवं उनका समाधान विषय पर एक्सक्लूसिव लेट्स टॉक “सवाल आपके, जवाब हमारे” कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें पटना जिले के जिला शिक्षा पदाधिकारी संजय कुमार शामिल हुए। उनके द्वारा ई-शिक्षाकोष से संबंधित विस्तृत जानकारी दी गई।
इस कार्यक्रम को टीम टीचर्स ऑफ बिहार के मॉडरेटर दीपशिखा पांडेय के द्वारा शिक्षा पदाधिकारी पटना संजय कुमार से ई शिक्षकोष से संबंधित शिक्षकों के द्वारा पूछे गए भिन्न-भिन्न प्रश्नों के जवाब को जानने का प्रयास किया जिसका जबाव भी उनके द्वारा दिया गया।
इस कार्यक्रम में तकनीकी विशेषज्ञ शिक्षक के रूप में शामिल कैमूर जिले के शिक्षक सिकेन्द्र कुमार सुमन ने ई शिक्षकोष से संबंधित तकनीकी पहलुओं जैसे इस शिक्षा कोष में लोकेशन की समस्या से संबंधित समाधान के बारे में विस्तार पूर्वक बताया।
ई शिक्षकोष से संबंधित समस्याओं के समाधान हेतु टीचर्स बिहार के फाउंडर शिव कुमार के द्वारा “आपकी राय मायने रखती है” नाम से नई पहल की गई है। नई पहल के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने बिहार के शिक्षकों से अपील की है कि ई-शिक्षाकोष एप में आने वाली समस्याओं को प्रश्नों के रूप में परिवर्तित कर, अपेक्षित उत्तर सहित टीचर्स ऑफ बिहार के द्वारा जारी लिंक के माध्यम से हमें प्रेषित करें। तत्पश्चात, आपके प्रश्नों को आपके नाम सहित संकलित कर टीचर्स ऑफ बिहार संबंधित विभाग को भेजेगी, जिससे विभाग के द्वारा आपकी समस्याओं का समाधान प्रभावी रूप से किया जा सकेगा।
उक्त जानकारी टीचर्स ऑफ बिहार के प्रदेश प्रवक्ता रंजेश कुमार एवं प्रदेश मीडिया संयोजक मृत्युंजय ठाकुर ने संयुक्त रूप से दी।