July 25, 2024

राष्ट्र की परम्परा

हिन्दी दैनिक-मुद्द्दे जनहित के

सलेमपुर लोकसभा से रामशंकर राजभर ने हासिल की जीत

रमाशंकर ने पिता को 2009 और पुत्र को 2024 में दिया मात

सलेमपुर/देवरिया(राष्ट्र की परम्परा) उत्तर प्रदेश की सलेमपुर लोकसभा सीट पर समाजवादी पार्टी के रमाशंकर राजभर ने जीत का परचम लहराया है। हालांकि, रमाशंकर राजभर के लिए यह जीत बिल्कुल आसान नहीं रही। मतों की गिनती के दौरान शुरुवात से अंतिम समय तक भाजपा के रविंद्र कुशवाहा और सपा के रमाशंकर राजभर के बीच अंतर घटता बढ़ता रहा अंतर भी ज्यादे मतों का नही रहा ।आखिर कार अंत में रमाशंकर राजभर ने बाजी मारी ।
यह चुनाव रामाशंकर राजभर ने 3573 वोटों से जीत लिया। रमाशंकर राजभर को 405472 मत मिले, वहीं बीजेपी के रविन्द्र कुशवाहा 401899 वोटों के साथ दूसरे नंबर पर रहे । इस सीट पर 1 जून को वोटिंग हुई थी। जैसे ही रमाशंकर राजभर की जीत की घोषणा हुई, एक बात की खूब चर्चा होने लगी- ‘रमाशंकर राजभर वह नेता हैं, जिन्होंने पिता और बेटे दोनों को चुनाव हराया.’ दरअसल, 2024 में रविन्द्र कुशवाहा को हराया. वहीं 2009 के चुनाव में रविन्द्र कुशवाहा के पिता हरिकेवल प्रसाद को भी हराया था। इससे पहले इस सीट पर 2014 और 2019 का चुनाव रविंद्र कुशवाहा ने जीता था।

कहां से शिक्षा-कितनी संपत्ति?
63 साल के रमाशंकर राजभर ने स्नातक की पढ़ाई की है। इनकी क्षवि एक साफ-सुथरे नेता के तौर पर है। इनके खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं है। चुनाव आयोग को दिए हलफनामे के मुताबिक,इनकी कुल संपत्ति लगभग 7 करोड़ है।इसके अलावा एक वाहन भी है. साथ ही 10,18,350 रुपये कीमत के आभूषण रमाशंकर राजभर के पास हैं।

रमाशंकर राजभर के पास 78,10,000 रुपये कीमत की कृषि योग्य भूमि है।इसके अलावा 4,40,00,000 रुपये कीमत की एक कॉमर्शियल बिल्डिंग है।3,02,00,000 रुपये कीमत की एक रेसिडेंशियल बिल्डिंग है। इसके अलावा अलग-अलग बैंकों से 7,50,000 रुपये का लोन भी लिया है।

सलेमपुर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत भाटपार रानी सलेमपुर, बेल्थरा रोड, सिकंदरपुर और बांसडीह विधानसभा सीटें आती हैं. इन सीटों पर इस चुनाव में रमाशंकर राजभर काफी सक्रिय रहे। इस जिले में बेरोजगारी, उद्योगों की स्थापना, बदहाल स्वास्थ्य और शिक्षा व्यवस्था चुनाव के प्रमुख मुद्दे रहे, जिन्हें रमाशंकर राजभर चुनाव प्रचार के दौरान प्रमुखता से उठाते दिखाई दिए और विपक्ष पर निशाना साधते रहे।