July 13, 2024

राष्ट्र की परम्परा

हिन्दी दैनिक-मुद्द्दे जनहित के

दो महीने से बंद घर में कंकाल मिलने से मचा हड़कंप

मोतिहारी/बिहार (राष्ट्र की परम्परा) एक बंद घर के बरामदे से एक कंकाल मिलने से क्षेत्र में हड़कंप मच गया।
इस बात का खुलासा उस वक्त हुआ जब महिला ने अपने घर का ताला खोला। उन्होंने देखा कि बरामदे पर छत से साड़ी लटक रहा है उसके नीचे एक कंकाल पड़ा हुआ है। मामला पंचपकड़ी थाना क्षेत्र के खोड़ीपाकड गांव का है।तुरंत इसकी जानकारी ग्रामीणों ने पुलिस को दी, सूचना मिलने के बाद खुद पकड़ीदयाल एसडीपीओ सुबोध कुमार मौके पर पहुंच कर मामले की जांच में लग गए। बरामद कंकाल का एफएसएल की टीम जांच कर रही है। हालांकि महिला का कहना है कि यह कंकाल मेरे बेटे का नहीं है।

जानें पूरा मामला——
बताया गया कि पंचपकड़ी थाना क्षेत्र के खोरीपाकर गांव वार्ड संख्या-6 की रहने वाली बैद्यनाथ सिंह उर्फ बाबर सिंह की पत्नी अनिता देवी दो माह से अपने बेटी के घर फेनहारा थाना के कालुपाकर गांव में रह रही थी। वहीं, गुरुवार को जब वह अपने घर राशन लेने आई थी घर का दरवाजा खोला तो देख दंग रह गई, आंगन के बरामदे पर एक मानव कंकाल पड़ा था। बताया गया है कि अनीता देवी और उसके बेटे के बीच चार माह पहले किसी बात को लेकर विवाद हुआ था, जिससे बाद बेटा और मां के बीच बातचीत बंद हो गई थी।इसी बीच विवाद के दो महीने बाद अनीता देवी अपनी बेटी के ससुराल फेनहारा थाना क्षेत्र के कालुपाकड़ आ गई, दो माह बाद जब वह राशन लेने के लिए घर गई, जैसे ही गेट खोला वैसे सामने कंकाल पड़ा था।

एसडीपीओ ने कहा-प्रथम दृष्टिया आत्महत्या लग रहा है

पकड़ीदयाल एसडीपीओ सुबोध कुमार ने घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचकर जांच शुरू कर दी है। इस दौरान उन्होंने बताया कि आत्महत्या का मामला लग रहा है। अनीता देवी अपने बेटे का कंकाल होने की बात को स्वीकार नहीं कर रही है। हालांकि इस मामले में वह बहुत कुछ छुपा रही है जिसकी जांच की जा रही है। जांच के दौरान जो पता चला है कि अनीता देवी के बेटे ने पहले भी आत्महत्या की कोशिश की थी। पुलिस मामले की जांच कर रही। जल्द खुलासा हो जाएगा।